30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.

Biography Of Jaun Elia:

जॉन एलिया की बात करें तो उन्हें कौन नहीं जानता अब तक के सबसे ज्यादा पढ़े और सुने जाने वाले शायरों में से एक है। आज भी इनकी शायरियां इन्टरनेट में सोशल मीडिया के माध्यम से घुम रही है और लोग इनकी शायरियों को बहुत ज्यादा मात्रा में एक दुसरे से साझा भी करते हैं। उर्दू के इस महान शायर का जन्म भारत में अमरोहा उत्तर प्रदेश में हुआ था। उनके परिवार में पत्नी जाहिदा, दो पुत्रिया और एक पुत्र भी थे। जौन 8 वर्ष की उम्र से ही शेरों शायरियां करते थे। उन्हें उर्दू, हिन्दी, अंग्रेजी, हिब्रू जैसी भाषाओं का अच्छा ज्ञान था। जॉन एलिया आज भी युवाओ की पहली पसंद हुआ करते हैं । भारत-पाकिस्तान के अलगाव के बाद वो पाकिस्तान चले गए थे वहां जाने के बाद भी जॉन एलिया भारत को भूल नहीं पाते थे भारत इनका पैतृक स्थान था। जॉन एलिया ने बहुत सी रचनाएं लिखीं थीं जैसे कि शायद ( Shayad ) - 1991, यानी (Yanee ) - 2003, गुमान ( Guman ) - 2004, लेकिन ( Lekin ) - 2006, गोया ( Goya ) - 2008
इनकी सभी रचनाएं बेहतरीन और उमन्दा है, उनके जैसा शायर कोई नहीं, ना होगा कभी।
अपने पत्नी से तलाक के बाद जॉन एलिया एक दम टुट से गये थे। गम को भुलाने के लिए जॉन ने शराब पीना शुरू कर दिया और उन्हें कई बिमारियों ने जकड़ लिया। बहुत लम्बे समय से बीमार रहने के बाद 8 नवंबर 2002 को पाकिस्तान में इन्होंने अपनी आखरी सांस ली और अपने चाहने वालों को अलविदा कह गए। उनके शब्दों में जादू था उनकी शायरियां आज भी सीधे दिल को छुती है। जॉन एलिया की कुछ ऐसी ही चुनिंदा बेहतरीन शायरियां जो आपकी खिदमत में पेश है उम्मीद करता हूं आपको पसन्द आयेगी.....


30+ Joun Elia Poetry

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


मैं भी बहुत अजीब हूँ इतना अजीब हूँ कि बस
ख़ुद को तबाह कर लिया और मलाल भी नहीं

(मलाल  =  दुःख)

Main bhi bahut ajeeb hun itna ajeeb hun ki bas
Khud ko tabaah kar liya aur malaal bhi nahin
...


30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


कितने ऐश उड़ाते होंगे कितने इतराते होंगे
जाने कैसे लोग वो होंगे जो उस को भाते होंगे
यारो कुछ तो ज़िक्र करो तुम उस की क़यामत बाँहों का
वो जो सिमटते होंगे उन में वो तो मर जाते होंगे

Kitne aesh udaate honge kitne itraate honge
Jaane kaise log wo honge jo us ko bhaate honge
Yaaro kuchh to zikr karo tum us ki qyaamat baahon ka
Wo jo simat te honge un mein wo to mar jaate honge
...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


ये काफ़ी है कि हम दुश्मन नहीं हैं
वफ़ा-दारी का दावा क्यूँ करें हम

Ye kaafi hai hum dushman nahin hain
Wafaa-daari ka daawa kyun karein hum
...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


उस गली ने ये सुन के सब्र किया
जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं

Us gali ne ye sun ke sabr kiya
Jaane waale yahan ke the hi nahin
...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


तू भी चुप है 
मैं भी चुप हूँ 
ये कैसी तन्हाई है 
तेरे साथ तेरी याद आई 
क्या तू सच मुच आई हैं 
हुस्न के जाने कितने चेहरे 
हुस्न के जाने कितने नाम 
इश्क़ का पेशा हुस्न-परस्ती 
इश्क़ बड़ा हरजाई है 
आज बहुत दिन बाद मैं अपने कमरे तक आ निकला था 
जो ही दरवाज़ा खोला है, उसकी खुशबू आई हैं। 

Tu bhi chup hai, 
main bhi chup hun, 
yeh kaisi tanhaai hai, 
Tere saath teri yaad aai, 
kya tu sach much aai hai 
Husn ke jaane kitne chehre, 
husn ke jaane kitne naam, 
Ishq ka pesha husn-parasti, 
ishq bada harjai hai 
Aaj bahut din baad main apne kamre tak aa nikla tha, 
Ju hi darwaaza khola hai, uski khushboo aai hai
...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


नया इक रब्त पैदा क्यूँ करें हम
बिछड़ना है तो झगड़ा क्यूँ करें हम

(रब्त  =  संबंध, बंधन)

Naya ik rabt paida kyun karein hum
Bichhadna hai to jhagda kyun karein hum.
...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


महक उठा है आँगन इस ख़बर से
वो ख़ुशबू लौट आई है सफ़र से

Mahak utha hai aangan is khabar se
Wo khusboo laut aai hai safar se

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


ऐ शख्स मैं तेरी जुस्तुजू से
बे-जऱ नही हूँ
थक गया हूँ

Ae shakhs main teri justuju se
Be - zar nahi hoon,
Thak gaya hoon

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


बेदिली क्या यूं ही दिन गुजर जाएंगे,
सिर्फ जिंदा रहे हम तो मर जाएंगे।

Bedili kya yu hi din gujar jaayenge
Sirf zinda rahe hum to mar jaayenge

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


कौन इस घर की देखभाल करें
रोज एक चीज टूट जाती है

Kaun iss ghar ki dekhbhal kare
Roz ek chiz toot jati hai

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


रोया हूँ तो अपने दोस्तों में 
पर तुझ से तो हँस के ही मिला हूँ।

Roya hoon toh apne dosto mein
Par tujh se to hans ke hi mila hoon.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


सब दलीलें तो मुझको याद रही 
बहस क्या थी उसी को भूल गया।

Sab daleele to mujhko yaad nahi
Bahas kya thi usi ko bhool gya.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


मैं तो बस एक नाम था और मुझे हवाओं में,
धूल पे लिख दिया गया और उड़ा दिया गया।

Main to bas ek naam tha aur mujhe hawaao mein,
Dhool pe likh diya gaya aur uda diya gaya.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


ये हैं एक जब्र इत्तेफ़ाक नहीं
जौन होना कोई मज़ाक नहीं।

Ye hai ek jabr ittefaaq nahin
Jaun hona koi mazak nahin.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


सो गए पेड़ जग उठी खुशबू
जिंदगी ख्वाब क्यों दिखाती है।

So gaye ped jag uthi khushboo
Zindagi khwaab kyun dikhaati hain.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


अब हमारा मकान किसका है
हम तो अपने मकान के थे ही नहीं।

Ab humara makan kiska hain
Hum toh apne makan ke the hi nahin.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


बहुत नज़दीक आती जा रही हो
बिछड़ने का इरादा कर लिया क्या?

Bahut najdeek aati ja rahi ho
Bichhadne ka iraada kar liya kya?

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


मेरी बाहों में बहकने की सजा भी सुन ले,
अब बहुत देर में आज़ाद करूँगा तुझ को

Meri baahon mein behekne ki saza bhi sun le,
Ab bahut der mein aazaad karunga tujh ko

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


गवाई किस तमन्ना में ज़िन्दगी मैंने
वो कौन है जिसे देखा नहीं कभी मैंने
तेरा ख़याल तो है, पर तेरा वजूद नहीं,
तेरे लिए ये महफ़िल सजाई मैंने। 

Gawaayi kis tamanna mein zindagi maine,
Woh kaun hai jise dekha nahin kabhi maine
Tera khayaal toh hai, par tera wajood nahin,
Tere liye yeh mehfil sajaayi maine.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


आखिरी बार आह कर ली है,
मैंने खुद से निबाह कर ली है
अपने सर इक बाला तो लेनी थी,
मैंने वो ज़ुल्फ़ अपने सर ली हैं। 

Aakhiri baar aah kar li hai,
Maine khud se nibaah kar li hai
Apne sar ik balaa toh leni thi,
Maine woh zulf apne sar li hai

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


ख़ूब है इश्क़ का ये पहलू भी
मैं भी बर्बाद हो गया तू भी

Khoob hai ishq ka ye pehalu bhi
Main bhi barbaad ho gaya tu bhi

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


सारे रिश्ते तबाह कर आया,
दिल-ए-बर्बाद अपने घर आया
मैं रहा उम्र भर जुड़ा खुद से,
याद मैं खुद को उम्र भर आया।

Saare rishte tabaah kar aaya,
Dil-e-barbaad apne ghar aaya
Main raha umra bhar juda khud se,
Yaad main khudko umra bhar aaya.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


जो गुज़ारी न जा सकी हम से
हम ने वो ज़िंदगी गुज़ारी है

Jo gujaari na jaa saki ham se
hum ne wo zindagi gujari hai.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


दिल तमन्ना से डर गया जनाब,
सारा नशा उतर गया जनाब।

Dil tamanna se dar gaya janaab,
Saara nasha utar gaya janaab

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


कैसे कहें कि उस को भी हम से है कोई वास्ता
उस ने तो हम से आज तक कोई गिला नहीं किया

Kaise kahein ki us ko bhi ham se hai koi waasta
Us ne to ham se aaj tak koi gila hi nahin kiya

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


यादों का हिसाब रख रहा हूँ
सीने में अज़ाब रख रहा हूँ
तुम कुछ कहे जाओ, क्या कहूं मैं
बस दिल में जवाब रख रहा हूँ

Yaadon ka hisaab rakh raha hoon, Seene mein azaab rakh raha hoon Tum kuch kahe jao, kya kahun main Bas dil mein jawaab rakh raha hoon

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


कौन इस घर की देख-भाल करे
रोज़ इक चीज़ टूट जाती है

Kaun is ghar ki dekh-bhaal kare
Roz ik cheez tut jaati hai

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


यूँ जो ताकता है आसमान को तू,
कोई रहता है आसमान में क्या ?
यह मुझे चैन क्यों नहीं पड़ता,
एक ही शख्स था जहां में क्या?

Yun jo takta hai aasmaan ko tu,
Koi rehta hai aasmaan mein kya
Yeh mujhe chain kyun nahin padta,
Ek hi shakhs tha jahaan mein kya

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


अपना खाका लगता हूँ,
एक तमाशा लगता हूँ
अब मैं कोई शख्स नहीं,
उसका साया लगता हुँ।

Apna khaaka lagta hoon,
Ek tamaasha lagta hoon
Ab main koi shakhs nahin,
Uska saaya lagta hoon

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


एक हुनर हैं जो कर गया हुँ मैं
सबके दिल से उतर गया हुँ मैं
क्या बताऊँ की मर नहीं पाता,
जीते जी जब से मर गया हुँ मैं।

Ek hunar hai jo kar gaya hoon main
Sabke dil se utar gaya hoon main
Kya bataun ki marr nahi paata,
Jeete-jee jab se marr gaya hoon main

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


इलाज यह हैं की मजबूर कर दिया जाऊं,
वर्ना यूं तो किसी की नहीं सुनीं मैंने।

Ilaaj yeh hai ki majboor kar diya jaaun,
Varna yun toh kisi ki nahin suni maine

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


दिल-ए-बर्बाद को आबाद किया हैं मैंने,
आज मुद्दत में तुम्हे याद किया है मैंने।

Dil-e-barbaad ko aabaad kiya hai maine,
Aaj muddat mein tumhe yaad kiya hai

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


इतना तो जानता हुँ के अब तेरी आरज़ू,
बेकार कर रहा हुँ अगर कर रहा हुँ मैं।

Itna toh jaanta hoon ke ab teri aarzoo,
Bekaar kar raha hoon agar kar raha hoon main.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


हर शख्स से बे - नियाज़ हो जा
फिर सब से ये कह की मैं खुदा हूँ।

Har shakhs se be - niyaaz ho ja
Phir sab se ye kah ki main khuda hoon.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


मेरा एक मशवरा है इल्तेज़ा नहीं
तू मेरे पास से इस वक़्त जा नहीं।

Mera ek mashwara hain ilteza nahin
Tu mere paas se is waqt ja nahin.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


शायद मुझे किसी से मोहब्बत नही हुई
पर यकीन सबको दिलाता रहा हूँ मैं।

Shayad mujhe kisi se Mohabbat nahi hui
Par yakin sabko dilata raha hoon main.

...

30+ Jaun Elia Poetry,  2 Line Shayari, Jaun Elia Shayari And Quotes , Joun Elia was famous Pakistani Urdu poet.


जाइये और खाक उड़ाइये आप ,
अब वो घर क्या कि वो गली ही नहीं

Jayiye aur khak udayiye aap,
Ab wo ghar kya ki wo gali hi nahin.

...