फलों में स्वाद की तरह | केदारनाथ सिंह 


केदारनाथ सिंह की हिन्दी कविता 'फलों में स्वाद की तरह' इनके प्रसिद्ध कविता-संग्रह 'अकाल में सारस' से ली गई है।

केदारनाथ सिंह की हिन्दी कविता 'फलों में स्वाद की तरह' इनके प्रसिद्ध कविता-संग्रह 'अकाल में सारस' से ली गई है।

फलों में स्वाद की तरह

जैसे आकाश में तारे
जल में जलकुंभी
हवा में आक्सीजन

पृथ्वी पर उसी तरह
मैं
तुम
हवा
मृत्यु
सरसों के फूल

जैसे दियासलाई में काठी
घर में दरवाजे
पीठ में फोड़ा
फलों में स्वाद

उसी तरह...
उसी तरह...

                                       – केदारनाथ सिंह


Jaise aakash mein taare
Jal mein jalkumbhi
Hawa mein aakseezan

Prithvi par usi tarah
Main
Tum
Hawa
Mrityu
Sarson ke phool

Jaise diyaslaai mein kaathi
Ghar mein darwaje
Pith mein phoda
Phalon mein sawad

Usi tarah...
Usi tarah...

                                    – Kedarnath Singh