'Ek Safar Par Ae Dil Jana Toh Hoga Poetry' By Shivangi


Hindi poetry, social house poetry

'Ek Safar Par Ae Dil Jana Toh Hoga Poetry'

डर हमको भी लगता है रास्ते के सन्नाटे से
लेकिन एक सफर पर ए दिल जाना तो होगा
लाख कर बहाने की छाले हैं पांव में 
बस थोड़ी दूर और.. कह के दिल को मनाना तो होगा 

तू थक सकता है पर तू रुक नहीं सकता 
कोशिश तो कर खुद से लड़ने की 
कि तुझ पर हार जाने का एक बहाना तो होगा लेकिन एक सफर पर ए दिल जाना तो होगा

सिर्फ सांसें भरने को जीना नहीं कहते 
जहां रहता ना हो जुनून उसे सीना नहीं कहते
सच है कि बेबसी हाथ थाम लेती है अक्सर 
है जो तुझे खुद के अक्स की तलाश 
तो हाथ तुझको छुड़ाना तो होगा 
लेकिन एक सफर पर ए दिल जाना तो होगा

ये मालूम है तुझे कि मंजिल तो है मगर रास्ता नहीं है 
क्योंकि कोशिश और ईमान से अभी तेरा वास्ता नहीं है
और जिस राह पर रंज भूल बैठा है तू काफिर
सच कह दूं तो वो तेरा रास्ता नहीं है 
दलीलें बहुत दे ली तूने खुद को 
कि तब ये नहीं था अब ये नहीं है 
जवाब जीत की जश्न का तुझे खुद को सुनाना तो होगा 
लेकिन एक सफर पर ए दिल जाना तो होगा

                                                     – शिवांगी

Dar humko bhi lagta hain raaste ke sannaate se 
Lekin ek safar par ae dil jana toh hoga 
Laakh kar bahane ki chhaale hain paanv mein 
Bas thodi dur aur.. kah ke dil ko manana toh hoga 

Tu thak sakta hai par tu ruk nahin sakta 
Koshish to kar khud se ladne ki 
Ki tujh par haar jaane ka ek bahana to hoga 
Lekin ek safar par ae dil jana toh hoga 

Sirf sansein bharne ko jeena nahin kahte
Jahaan rahta na ho junoon use seena nahin kahte 
Sach hai ki bebsi haath thaam leti hai aksar 
Hai jo tujhe khud ke aks ki talash 
Toh haath tujhko chhudana toh hoga
Lekin ek safar par ae dil jana toh hoga 

Ye maloom hai tujhe ki manjil to hai
Magar raasta nahin hai 
Kyonki koshish aur imaan se abhi tera wasta nahin hai 
Aur jis raah par ranj bhool baitha hai tu kaafir 
Sach kah doon toh wo tera raasta nahin hai 
Daleelein bahut de li tune khud ko 
Ki tab ye nahin tha ab ye nahin hai
Jawab jeet ki jashn ka tujhe khud ko sunana to hoga 
Lekin ek safar par ae dil jana toh hoga

                                                    – Shivangi