Safar Mein Dhoop To Hogi – Nida Fazli | Urdu Poetry | Beautiful Poem


Nida Fazli urdu poetry, Famous Urdu Poetry

Muqtida Hasan Nida Fazli, known as Nida Fazli (12 October 1938 – 8 February 2016), was a prominent Indian Hindi and Urdu poet, lyricist and dialogue writer. He was awarded the Padma Shri in 2013 by the government of India for his contribution to literature.

Credit:

Poetry Title – Safar Mein Dhoop To Hogi
Poet – Nida Fazli


Safar Mein Dhoop To Hogi Poem

सफ़र में धूप तो होगी
जो चल सको तो चलो

सफ़र में धूप तो होगी
जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में तुम भी
निकल सको तो चलो

इधर उधर कई मंज़िल हैं
चल सको तो चलो
बने बनाये हैं साँचे
जो ढल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को ख़ुद ही 
बदल सको तो चलो

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम
सम्भल सको तो चलो

यही है ज़िन्दगी कुछ ख़्वाब चन्द उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी
बहल सको तो चलो

हर इक सफ़र को है 
महफ़ूस रास्तों की तलाश
हिफ़ाज़तों की रिवायत
बदल सको तो चलो

कहीं नहीं कोई सूरज,
धुआँ धुआँ है फ़िज़ा
ख़ुद अपने आप से बाहर
निकल सको तो चलो

                                        
                                        ~ निदा फ़ाज़ली